Hunar

हम खुद तराशते हैं मंजिल के संग ए मील
हम वो नहीं हैं जिन को ज़माना बना गया

Post a Comment

1 Comments

If you have any doubts, Please let me know